(Top 150+) दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में – Jalane Wali Shayari

दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में, जलाने वाली शायरी, दुश्मन को जलाने वाले स्टेटस, विरोधियों को जलाने वाली शायरी, दुश्मनों के लिए शायरी, दुश्मनों को जलाने वाली शायरी।

Dushman Ko Jalane Wali Shayari, Jalane Wali Shayari, Shayari Jalane Wali, Dushman Ko Jalane Wale Status, Kisi Ko Jalane Wali Shayari.

दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में

गली के भोकने वाले आवारा कुत्तों,
और दुश्मनों पर हम ध्यान नहीं देते।

Gali ke bhokne wale awara kutto aur
Dushmano par hum dhyan nahi dete.

दुश्मन-को-जलाने-वाली-शायरी-हिंदी-में (1)

जो कल मुझे मेरी औकात दिखा रहे थे,
आज वक़्त ने उन्हें उनकी औकात दिखा दी।

Jo kal mujhe meri aukat dikha rahe the,
Aaj waqt ne unhe unki aukat dikha di.

जलने वाले दुश्मन हमारे बहोत है,
लेकिन उनको जलाने का हमे भी शौक है।

Jalane wale dushman hamare bahot hai,
Lekin unko jalane ka hume bhi shauk hai.

घर में रखी बंदूके फिर से उठानी होगी
कुछ लोग अपनी औकात भूल गए है
उन्हें उनकी औकात फिर से याद दिलानी होगी।

Ghar mein rakhi bandooke phir se uthani hogi
Kuch log apni aukaat bhool gaye hai,
Unhe unki aukaat phir se yaad dilani hogi.

हमसे टक्कर लेने के ख्वाब मत देख
जिस दिन टक्कर होगी, तेरी हस्ती मिटा देंगे।

Humse takkar lene ke khwab mat dekh
Jis din takkar hogi, teri hasti mita denge.

जिनके जमीन पर रहने के ठिकाने नहीं,
वो आसमान पर अपना ठिकाने ढूंढने चले।

Jinke jameen par rehne ke thikane nahi,
Wo aasman par apna thikana dhundhne chale.

कोई क्या खाक करेगा हमारा मुकाबला,
हमसे मुकाबला करने वाले राख हो गए।

Koi kya khak karega hamara muqabla,
Humse muqabla karne wale raakh ho gaye.

Dushman Ko Jalane Wali Shayari, Jalane Wali Shayari, Shayari Jalane Wali, Dushman Ko Jalane Wale Status, Kisi Ko Jalane Wali Shayari For Facebook.

विरोधियों को जलाने वाली शायरी

अक्सर बहादुरी की डींगे वही लोग मारा करते है,
जो कायर हमेशा झुंड में चला करते है।

Aksar bahaduri ki dinge wahi log mara karte hai,
Jo kayar hamesha jhund mein chala karte hai.

दुश्मन-को-जलाने-वाली-शायरी-हिंदी-में (2)

मुझ पर जलने वाले दुश्मन, जल जल के कोयले हो गए
मुझ पे मरती है उनकी बहने, अब तो वो मेरे साले हो गए।

Mujh par jalane wale dushman, jal jal ke koyale ho gaye
Mujh pe marti hai unki behane, ab to wo mere sale ho gaye.

हमारी पीठ पर वार करने वाले,
हमारे दोस्त की नकाब में हमारे ही दुश्मन निकले।

Hamari pith par waar karne wale,
Hamare dost ki nakaab mein Hamare hi dushman nikle.

हम थोड़े खामोश क्या हुए,
तुम जैसे बच्चे भी शोर मचाने लगे।

Hum thode khamosh kya hue,
Tum jaise bacche bhi shor machane lage.

इसी बात से लगा लेना मेरी हैसियत का अंदाज़ा,
वो लोग भी सलाम करते है मुझे, जिन्हें तू सलाम करता है।

Isi baat se laga lena meri haisiyat ka andaza,
Wo log bhi salam karte hai mujhe, Jinhe tum salam karta hai.

कहना चाहता हूँ उनको जो करते है
मेरी बुराई पीठ पीछे बैठ कर कोने में,
संभल जाओ वक़्त है वरना
तुम्हारी उम्र निकल जाएगी सिर्फ रोने में।

Kehna chahta hoon unko jo karte hai
Meri burai peeth piche baithkar rone mein
Sambhal jao waqt hai warna
Tumhari umra nikal jayegi sirf rone mein.

अगर हमे दोस्ती निभाना आती है
तो हम दुश्मनी निभाना भी जानते है।

Agar hume dosti nibhana aati hai
To hum dushmani nibhana bhi jante hai.

दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में, जलाने वाली शायरी, दुश्मन को जलाने वाले स्टेटस, विरोधियों को जलाने वाली शायरी, दुश्मनों के लिए शायरी, दुश्मनों को जलाने वाली शायरी इंग्लिश।

इसे भी पढ़ें :  खास दोस्त के लिए शायरी

Add a Comment

Your email address will not be published.